Speech On Gandhi Jayanti In Hindi & English 2018

Speech On Gandhi Jayanti In Hindi & English 2018: For Students And Others. Find Long And Short Gandhi Jayanti speech in Very Simple And Easy Words.

Speech On Gandhi Jayanti In Hindi & English 2018

Speech On Gandhi Jayanti In Hindi

 

Speech On Gandhi Jayanti In Hindi Speech 1

Latest collection Speech On Gandhi Jayanti In Hindi Speech 1

सभी माननीय, आदरणीय प्रधानाध्यापक, शिक्षकगण और मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी को सुबह का नमस्कार। मेरा नाम राहुल है, मैं कक्षा 7 में पढ़ता हूँ। मैं गाँधी जयंती के अवसर पर एक भाषण देना चाहूँगा। सबसे पहले मैं अपने क्लासटीचर को धन्यवाद देना चाहूँगा जिन्होंने इतने महान अवसर पर भाषण देने के लिये मुझे मौका दिया। जैसा कि हम सभी जानते है कि हर साल 2 अक्टूबर को महात्मा गाँधी का जन्मदिन मनाने के लिये हम सब इकट्ठा होते हैं। मेरे प्यारे दोस्तों, गाँधी जयंती केवल अपने देश में ही नहीं मनाया जाता है बल्कि अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रुप में पूरे विश्व भर में मनाया जाता है क्योंकि वह अपने पूरे जीवनभर अहिंसा के एक पथ-प्रदर्शक थे।

उनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गाँधी है हालाँकि वह बापू और राष्ट्रपिता तथा महात्मा गाँधी के नाम से प्रसिद्ध हैं। उनका जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। इस दिन पर, नयी दिल्ली के राजघाट पर महात्मा गाँधी को उनके समाधि स्थल पर भारत के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के द्वारा प्रार्थना, फूल, भजन आदि के द्वारा श्रद्धाजलि अर्पित की जाती है। गाँधी जयंती भारत के सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में गाँधी को याद करने के लिये मनायी जाती है जिन्होंने हमेशा सभी धर्मों और समुदायों को एक नजर से सम्मान दिया। इस दिन पर पवित्र धार्मिक किताबों से दोहा और प्रार्थना पढ़ा जाता है खासतौर से उनका सबसे प्रिय भजन “रघुपति राघव राजा राम”। देश में राज्यों के राजधानियों में प्रार्थना सभाएँ रखी जाती है। जैसा कि भारत सरकार के द्वारा इस दिन को राष्ट्रीय अवकाश के रुप में, सभी स्कूल, कॉलेज, कार्यालय आदि पूरे देश में बंद रहते हैं।

महात्मा गाँधी एक महान व्यक्ति थे जिन्होंने ब्रिटिश शासन से भारत की आजादी को प्राप्त करने में बहुत संघर्ष किया और एक महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। वह ब्रिटिश शासन के खिलाफ भारत के लिये आजादी प्राप्त करने के अहिंसा के अनोखे तरीके के केवल पथ-प्रदर्शक ही नहीं थे बल्कि उन्होंने दुनिया को साबित किया कि अहिंसा के पथ पर चलकर शांतिपूर्ण तरीके से भी आजादी पायी जा सकती है। वह आज भी हमारे बीच शांति और सच्चाई के प्रतीक के रुप में याद किये जाते हैं।

जय हिन्द

धन्यवाद 

Speech On Gandhi Jayanti In Hindi Speech 2

Latest collection Speech On Gandhi Jayanti In Hindi Speech 2

सभी माननीयों, आदरणीय प्रधानाध्यापक, शिक्षकगण और मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी को सुबह का नमस्कार। जैसा कि हम सभी जानते है कि हम सब यहाँ एक प्यारा उत्सव मनाने जुटे हैं जो गाँधी जयंती कहलाता है, इस अवसर पर मैं आप सब के सामने एक भाषण देना चाहता हूँ। मेरे प्यारे दोस्तों, 2 अक्टूबर महात्मा गाँधी का जन्मदिन है। राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि देने के लिये हर वर्ष पूरे उत्साह के साथ हम इस दिन को मनाते है साथ ही साथ अंग्रेजी शासन से देश के लिये स्वतंत्रता संघर्ष के रास्ते में उनके हिम्मतपूर्णं कार्यों को याद करते हैं। पूरे भारत में एक बड़े राष्ट्रीय अवकाश के रुप में हमलोग गाँधी जयंती मनाते हैं। महात्मा गाँधी का पूरा नाम मोहनदास करमचन्द गाँधी है और वो बापू तथा राष्ट्रपिता के नाम से भी प्रसिद्ध है।

2 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रुप में भी मनाया जाता है क्योंकि अपने पूरे जीवन भर वह अहिंसा के उपदेशक रहे। 15 जून 2007 को संयुक्त राष्ट्र सामान्य सभा द्वारा 2 अक्टूबर को अंतरराष्ट्ररीय अहिंसा दिवस के रुप में घोषित किया गया है। हमलोग हमेशा बापू को शांति और सच्चाई के प्रतीक के रुप में याद करेंगे। बापू का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के छोटे से शहर पोरबंदर में हुआ था जबकि उन्होंने अपने पूरे जीवनभर बड़े-बड़े कार्य किये। वह एक वकील थे और उन्होंने अपनी कानून की डिग्री इंग्लैंड से ली और वकालत दक्षिण अफ्रीका में किया। “सच के साथ प्रयोग” के नाम से अपनी जीवनी में उन्होंने स्वतंत्रता के अपने पूरे इतिहास को बताया है। जब तक की आजादी मिल नहीं गयी वह अपने पूरे जीवन भर भारत की स्वतंत्रता के लिये अंग्रेजी शासन के खिलाफ पूरे धैर्य और हिम्मत के साथ लड़ते रहे।

सादा जीवन और उच्च विचार सोच के व्यक्ति थे गाँधी जी जिसको एक उदाहरण के रुप में उन्होंने हमारे सामने रखा। वो धुम्रपान, मद्यपान, अस्पृश्यता और माँसाहारी के घोर विरोधी थे। भारतीय सरकार द्वारा उनकी जयंती के दिन शराब पूरी तरह प्रतिबंधित है। वो सच्चाई और अहिंसा के पथ-प्रदर्शक थे जिन्होंने भारत की आजादी के लिये सत्याग्रह आंदोलन की शुरुआत की। नयी दिल्ली के राजघाट पर इसे ढ़ेर सारी तैयारीयों के साथ मनाया जाता है जैसे प्रार्थना, फूल चढ़ाना, उनका पसंदीदा गाना “रघुपति राघव राजा राम” आदि बजाकर गाँधीजी को श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है। मैं आप सबसे उनके एक महान कथन को बाँटना चाहूँगा “व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित प्राणी है, वो जो सोचता है वही बन जाता है”।

जय हिन्द

धन्यवाद

Speech On Gandhi Jayanti In Hindi Speech 3

Latest collection Speech On Gandhi Jayanti In Hindi Speech 3

सभी माननीय, आदरणीय प्रधानाध्यापक, शिक्षक और मेरे प्यारे दोस्तों को मैं प्यार भरा नमस्कार कहना चाहूँगा। मेरा नाम नवीन त्यागी है, मैं कक्षा 8 में पढ़ता हूँ। मेरे प्यारे दोस्तों, महात्मा गाँधी के जन्म दिवस, 2 अक्टूबर के इस शुभ अवसर को मनाने के लिये हम सब यहाँ इकट्ठे हुए हैं। इस दिन पर, भारत के राष्ट्रपिता का जन्म 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। ये उत्सव हमारे लिये बहुत मायने रखता है। महात्मा गाँधी का पूरा नाम मोहनदास करमचन्द गाँधी है, हालाँकि ये राष्ट्रपिता, गाँधीजी और बापू के नाम से भी पूरे विश्व में प्रसिद्ध हैं। गाँधी जयंती के रुप में देश में बापू के जन्म दिवस को मनाया जाता है जबकि पूरे विश्व में इसे अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रुप में मनाया जाता है।

बापू का जन्म देश के बहुत छोटे शहर में हुआ था हालाँकि उनके कार्य बहुत महान थे जिसको पूरे विश्व में फैलने से कोई नहीं रोक सका। वह एक ऐसे व्यक्ति थे जो ब्रिटिश शासन से अहिंसा के मार्ग पर चलकर भारत को आजादी दिलाने में भरोसा रखते थे। वह अहिंसा के पथ-प्रदर्शक थे, उनके अनुसार ब्रिटिश शासन से आजादी प्राप्त करने का यही एकमात्र असरदार तरीका है। बापू एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने भारत की आजादी के संघर्ष में अपना पूरा जीवन दे दिया।

भारतियों के असली दर्द को महसूस करने के बाद, उन्होंने गोपाल कृष्ण गोखले के साथ कई सारे आंदोलनों में भाग लेना शुरु कर दिया। असहयोग आंदोलन, सविनय अवज्ञा और भारत छोड़ो आंदोलन वे अभियान है जो उन्होंने भारत की आजादी के लिये चलाये थे। वह कई बार जेल गये लेकिन कभी अपना धैर्य नहीं खोया और शांतिपूर्वक अपनी लड़ाई को जारी रखा। बापू का पूरा जीवन(वर्तमान और भविष्य की पीढ़ी के लिये) देशभक्ति, समर्पण, अहिंसा, सादगी और दृढ़ता का आदर्श उदाहरण है। भारतीय लोगों द्वारा हर साल ढ़ेर सारी तैयारियों के साथ गाँधी जयंती मनायी जाती है। इस उत्सव को मनाने का उद्देश्य बापू को श्रद्धाजलि देने के साथ ही ब्रिटिश शासन से आजादी पाने में बापू द्वारा किये गये संघर्ष के बारे में भावी पीढ़ी को बताना है। ये हमें अपनी मातृभूमि के लिये हर समय खुली आँखों से सचेत रहने के लिये सिखाता है। मैं आप सबसे महात्मा गाँधी द्वारा कहा गया एक महान कथन बाँटना चाहूँगा।

“मेरा जीवन मेरा संदेश है, और दुनिया में जो बदलाव तुम देखना चाहते हो वह तुम्हें खुद में लाना पड़ेगा”।

जय हिन्द जय भारत

धन्यवाद

Speech On Gandhi Jayanti In English

Latest collection Speech On Gandhi Jayanti In English Speech

Speech On Gandhi Jayanti In English Speech 1

Latest collection Speech On Gandhi Jayanti In English Speech 1

A very good morning to the excellencies, respected Principal sir, teachers and my dear colleagues. My name is … I study in class … standard. I would like to recite a speech on Gandhi jayanti. First of all I would like to say a big thank to my class teacher for giving me an opportunity to speech on this great occasion. As we all know that we gathered here every year to celebrate 2nd October, the birth anniversary of Mahatma Gandhi. My dear friends, Gandhi Jayanti is not celebrated only in our country however it is celebrated as an event all over the world. 2nd of October is celebrated as Gandhi Jayanti in India however as International Day of Non-Violence all across the world as he was a preacher of non-violence throughout his life.

His full name is Mohandas Karamchand Gandhi however popularly known as Bapu, Mahatma Gandhi or Father of the nation. He was born on 2nd October in 1869 at Porbunder, Gujrat. At this day, the President and Prime Minister of India pay homage to the Mahatma Gandhi’s statue at his samadhi by offering prayer, flowers, bhajans, devotional songs, etc at the Raj Ghat, New Delhi. Gandhi Jayanti is celebrated in almost all the states and territories of India in order to commemorate the person who always respected the people of all the religions and communities in same manner. At this day, verses and prayers from religious holy books are read out especially his favorite ones like “Raghupati Raghava Raja Ram”. Prayer meetings are also held in various state capitals in the country. As this day has been declared as the national holiday by the government of India, all the schools, colleges, offices, etc remain closed throughout the country.

Mahatma Gandhi was a great person who struggled a lot and played a significant role in the achievement of freedom for India from British rule. He not only pioneered the unique method of non-violence to get freedom for India against British rule but also proved the world that freedom can be achieved peacefully through the path of non-violence. He is still remembered among us as the symbol of peace and truth.

Jai Hind

Thank You

Speech On Gandhi Jayanti In English Speech 2

Latest collection Speech On Gandhi Jayanti In English Speech 2

I would like to say a very good morning to the excellencies, respected Principal sir, teachers and my dear friends. My name is … I study in class … standard. My dear friends, we have gathered here to celebrate an auspicious occasion of 2nd October, the birth anniversary of Mahatma Gandhi. At this day, the father of the nation took birth in 1869 at Porbunder, Gujrat. This celebration means a lot to us. The full name of Mahatma Gandhi is Mohandas Karamchand Gandhi however popularly known as Gandhiji, father of the nation and Bapu all over the world. The birthday of Bapu gets celebrated all over country as Gandhi Jayanti however all over the world as an event, International Day of Non-Violence.

Bapu took birth in a very small town of the country however his deeds were so great that no one could stop to get spread all over the world. He was the person who always believed in getting freedom from the British rule very peacefully through non-violence. He was the pioneer of non-violence, a only effective way to achieve freedom from British rule according to him. Bapu was a great freedom fighter who spent his whole life in struggling for freedom of India.

After realizing a real pain of Indians, he started participating in various freedom movements together with the Gopal Krishna Gokhale. The campaigns what he run for India’s freedom were non co-operation movement, civil disobedience movement and quit India movement. He went to prison many times however never lose his patience of fighting peacefully. The whole life of Bapu has been set as an ideal example (in front of us and future generations) of patriotism, sacrifice, non-violence, simplicity, and firmness. Gandhi Jayanti is celebrated with lots preparations every year by the Indian people. The aim of celebrating this occasion is to pay tribute to the Bapu as well as let our future generations know about all the struggles made by Bapu in order to get freedom from British rule. It teaches us to be active with open eye every time in order to maintain the honor of our motherland. I would like to share with you some sayings by the Mahatma Gandhi:

“My life is my message.” and “You must be the change you wish to see in the world.”

Jai Hind, Jai Bharat

Thank you

Speech On Gandhi Jayanti In English Speech 3

Latest collection Speech On Gandhi Jayanti In English Speech 3

A very good morning to the excellencies, respected Principal sir, teachers and my dear colleagues. As we all know that we are gathered here to celebrate a nice occasion called Gandhi Jayanti, I would like to recite a speech in front of you all. My dear friends, today is 2nd October, the birth anniversary of Mahatma Gandhi. We celebrate this day with great enthusiasm every year to pay tribute to the Father of the Nation as well as remember his courageous deeds on the way of independence struggle for the country from British rule. We celebrate Gandhi Jayanti as one of the great national holidays all over the India. The full name of the Mahatma Gandhi is Mohandas Karamchand Gandhi, also known as Bapu or Father of the Nation.

2nd of October is also celebrated internationally as the International Day of Non-Violence because of being a preacher of non-violence throughout his life. 2nd of October was declared as International Day of Non-Violence by the United Nations General Assembly on 15th of June in 2007. We will always remember Bapu as a symbol of peace and truth. He was born on 2nd of October in 1869 in a small town (Porbunder, Gujarat) however performed great deeds all through his life. He was a lawyer and he took his law degree from U.K and practiced in South Africa. He had described his life history full of struggle in his autobiography named “My experiments with Truth”. He fought continuously with lots of patience and dare against British rule for the independence of India all through his life untill the independence came on the way.

Gandhiji was the man of simple living and high thinking which has been set as an example to us. He was very against to the smoking, drinking, untouchability, and non-vegetarianism. At this day the selling of alcohol has been completely banned for whole day by the government of India. He was the pioneer of truth and non-violence who started the Satyagraha movement for India’s freedom. It is celebrated with lots of preparations at the Raj Ghat, New Delhi (the cremation place of him) such as prayers, offerings of flower, playing his favorite song “Raghupati Raghav Raja Ram, Patit Pavan Sita Ram…”, etc in order to pay homage to the Gandhiji. I would like to share one of his great sayings such as: “Live as if you were to die tomorrow. Learn as if you were to live forever.”

Jay Hind

Thank you

So now without any further due let’s directly jump into the collection of “Speech On Gandhi Jayanti In Hindi & English 2018″, “Latest collection Speech On Gandhi Jayanti In Hidni Speech”. Thanks for visiting and Happy Diwali ahead with your caring.

Status Mob © 2018 StatusMob.com